close
FEATURED POST

Not Post Found!

LATEST POSTS from Books

दहलीज़ पर दिल – एक उपन्यास

किताब की दहलीज़ ये किताब किसी भी एक इंसान, एक दर्द, एक संघर्ष, एक विरोध, एक आंदोलन की कहानी नहीं है. इसका मकसद हफ्ते भर चले किसी धरना प्रदर्शन या किसी गुस्से को जाहिर करना नहीं है. इसमें किरदार के रूप में देश की सर्वोच्च सत्ता पर बैठे महामहिम भी है और एक मोहल्ले की गली में चाय की दुकान पर ग्लास धोता 8 साल का बच्चा भी. इसका मकसद बड़ा है. इसका मकसद आप की नजरों को देश की उस हिस्से की तरफ मोड़ना है, जो कहने को तो केंद्र में है, पर जैसे केंद्र में होने की..

खुलती गिरहें

खुलती गिरहें उपन्यास में पांच अलग-अलग स्त्री किरदार है जो अपनी धुन में दुनिया के सामने अपने होने के एहसास को मजबूत कराती हुई दिखाई देती हैं. उनकी जिंदगी की उधेड़बुन, उनकी जद्दोजहद, उनके अस्तित्व का संकरे पिंजरों की कैद से छूटकर बाहर निकलना और अपना आसमान तथा अपनी दिशा तय करना – सबकुछ उपन्यास में बहुत बारीकी से उभरता है. हर जीवन प्रशांत एक औरत में बहुत कुछ तोड़ता भी है, जोड़ता भी है...

INSTAGRAM FEED

Follow on Instagram