close
खुलती गिरहें

खुलती गिरहें

खुलती गिरहें उपन्यास में पांच अलग-अलग स्त्री किरदार है जो अपनी धुन में दुनिया के सामने अपने होने के एहसास को मजबूत कराती हुई दिखाई देती हैं. उनकी जिंदगी की उधेड़बुन, उनकी जद्दोजहद, उनके अस्तित्व का संकरे पिंजरों की कैद से छूटकर बाहर निकलना और अपना आसमान तथा अपनी दिशा तय करना – सबकुछ उपन्यास में बहुत बारीकी से उभरता है. हर जीवन प्रशांत एक औरत में बहुत कुछ तोड़ता भी है, जोड़ता भी है.


COMMENTS ARE OFF THIS POST

INSTAGRAM FEED

Follow on Instagram